- - जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व-What is positive thinking - जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व-What is positive thinking

Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व-What is positive thinking

जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व
Motivational story in hindi

जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व

एक गांव में एक साधु रहता था, उस साधु की यह खासियत थी कि जब भी वह नाचता था तब बारिश होती थी । गांव में जब भी बारिश नहीं होती थी तो गांव के सब लोग मिलकर साधु के पास जाते थे और साधु से प्रार्थना करते थे कि हमें अपने खेतों के लिए पानी की जरूरत है इसलिए आप बारिश करवाइए ।

साधु उनको कभी भी निराश नहीं करता था और उनके कहने पर नाचने लगता, उसके नाचने से बारिश शुरू हो जाती थी । एक दिन शहर के दो आदमियों को उस साधु के बारे में पता चला तो वह गांव वालों के पास गए और उनके सामने साधु का मजाक उड़ाने लगे और कहने लगे कि जिस तरह साधु के नाचने से बारिश होती है उसी तरह हमारे नाचने से भी बारिश होती है ।

गांव वालों को साधु का मजाक उड़ाना पसंद नहीं आया और वह कहने लगे कि अगर ऐसी बात है तो तुमको साधु के पास जाना चाहिए । हम लोग भी यह देखना चाहते हैं कि तुम मे और साधु में कौन बेहतर है

जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व

। गांव वाले उन शहर के व्यक्तियों को साधु के पास ले गए और उन व्यक्तियों की बातों को साधु को बताया  । साधु ने ध्यान से गांव वालों की बातों को सुना और शहर से आए दोनों व्यक्तियों को कहा कि आप दोनों सबके सामने अपनी बातों का प्रमाण दीजिए  । वह दोनों व्यक्ति साधु की बात सुनकर नाचने लगे  ।

एक घंटे तक दोनों व्यक्ति नाचते रहे लेकिन बारिश नहीं हुई  । एक घंटे के बाद दोनों व्यक्ति थक हार कर बैठ गए अब साधु की की बारी थी  । साधु ने नाचना शुरू कर दिया  । साधु को नाचते हुए दो घंटे बीत चुके थे लेकिन बारिश नहीं हुई  लेकिन फिर भी साधु ने नाचना बंद नहीं किया । साधु लगातार नाचता ही रहा । साधु को नाचते-नाचते शाम हो गई थी  । शाम होते  जोर-जोर से बादल गरजने लगे और बिजली कड़कने लगी इसके साथ बहुत तेज बारिश शुरू हो गई  ।

जीवन में सकारात्मक सोच का महत्व

वह दोनों व्यक्ति साधु के इस चमत्कार को देखकर हैरान रह गए और खुद अपने आप पर शर्मिंदा भी थे । कुछ समय के पश्चात दोनों व्यक्तियों ने साधु से पूछा, यह कैसे संभव हुआ ? साधु ने उनकी बात सुनकर कहा के मैं जब भी नाचता हूं तो यह सोचकर नाचता हूं के बारिश जरूर होगी और मैं तब तक नाचता रहता हूं जब तक बारिश नहीं हो जाती  ।

दोस्तों यह कहानी हमें जीवन में बहुत कुछ सिखाती है अगर कोई आदमी उन शहर के दो आदमियों की तरह असफल हो जाता है तो उसे साधु की तरह सकारात्मक सोच रखते हुए आत्मविश्वास से आगे बढ़ते रहना चाहिए  । उन्हें यह सोच रखते हुए आगे बढ़ना चाहिए कि अगर मैं कोई काम कर रहा हूं तो इस काम में मैं एक दिन अवश्य कामयाब हो जाऊंगा और उस काम को तब तक करूंगा जब तक कामयाबी की बुलंदियों तक ना पहुंच जाऊं  । अगर आप बिना थके, बिना हारे लगातार उस काम को करते रहते हैं तो एक ना एक दिन सफलता आपको अवश्य मिलेगी  । आदमी की सोच ही इंसान को डूबा सकती है या ऊपर उठा सकती है इसलिए दोस्तों हमें हमेशा सकारात्मक सोच रखकर ही आगे बढ़ना चाहिए । हमारा दिमाग असीमत शक्तियों का मालिक है बस उसका इस्तेमाल करना हमें आना चाहिए  ।

शिक्षा : दोस्तों इस शिक्षाप्रद कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें हमेशा सकारात्मक सोच रखनी चाहिए और जीवन में कभी हार नहीं माननी चाहिए अगर हम सकारात्मक सोच रखकर आगे बढ़ेंगे तो हमें कामयाबी तक पहुंचने के लिए कोई भी नहीं रोक सकता  ।

दोस्तों अगर आपको मेरा यह ब्लॉग अच्छा लगा हो तो कृपया व्हाट्सएप और फेसबुक पर जरूर शेयर कीजिए  । आप अपनी प्रतिक्रिया मुझे कमेंट के रूप में भी दे सकते हैं  । आपके प्रेम और स्नेह के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ