- - नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है-Spiritual benefits of meditation - नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है-Spiritual benefits of meditation

Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है-Spiritual benefits of meditation

 

नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है
Spiritual stories in hindi

नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है

नियमित रूप से ध्यान करने से क्या होता है और ध्यान क्यों करना चाहिए, यदि आप सोना बंद कर दे तो क्या होगा ? नींद आपको फिर से जिंदा करती है इसी तरह ध्यान आपको इस विराट ब्राह्ममंड के प्रति सचेत करता है  । ध्यान आपके आसपास की ऊर्जा को बढ़ाता है, ध्यान का मतलब यह है कि वह आप की रोशनी को बढ़ाकर, आपसे आपकी असली पहचान कराता है अन्यथा लोगों को मरते दम तक यह ध्यान नहीं रहता कि वे जिंदा थे  । 

ध्यान से इंसान को दुनिया को अच्छी तरह से देखने और समझने की शक्ति हासिल होती है  । साक्षी भाव में रहकर आप मजबूत बन सकते हो  । ध्यान आपके शरीर और मन और आत्मा के बीच एक गहरा संबंध बनाता है' । दूसरों की अपेक्षा आपका दुनिया को देखने और समझने का नजरिया  एकदम से बदल जाता है  । ज्यादातर लोग पशु स्तर पर ही सोचते और समझते हैं और उसी तरह से व्यवहार करते हैं  ।

उनमें और जानवरों में कोई खास फर्क नहीं रहता  । समझदार से समझदार व्यक्ति भी ईर्ष्या, लालच, झूठ और कामुकता से भरा हो सकता है लेकिन सही मायनों में ध्यानी व्यक्ति यम और नियमों को साध लेता है इसके अलावा ध्यान योग का महत्वपूर्ण तत्व है, जो तन मन और आत्मा के बीच एक गहरा संबंध बनाता है  । ध्यान के द्वारा  हमारी ऊर्जा केंद्रित होती है  । ऊर्जा केंद्रित होने की वजह से मन और शरीर मे शक्ति का संचार होता है और आत्मिक बल बढ़ता है  ।

ध्यान से हमें वर्तमान को देखने और समझने की ताकत मिलती हैं  । वर्तमान में हमें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने और देखने की क्षमता भी हमें ध्यान से मिलती है  । आप दुनिया के किसी भी धर्म स्थानों से वह चीज नहीं प्राप्त कर सकते जो आपको ध्यान से मिलती है  । ध्यान ही असल में धर्म का सत्य है और बाकी सभी तर्क और दर्शन की बातें हैं जो गलत भी हो सकती है  । सभी बड़े-बड़े महात्माओं ने ध्यान से ही सब कुछ हासिल किया है

अच्छा आप एक बात सोचो के हम क्या हैं ? क्या हम एक शरीर हैं, नहीं हम शरीर नहीं हैं  । ध्यान हमारे तन मन और आत्मा के बीच एक गहरा संबंध बनाता है  । अगर हमें अपने आप को पाना चाहते हैं तो ध्यान बहुत ही ज्यादा जरूरी है, यही एकमात्र विकल्प है जो हमारी असली पहचान कराता है । ध्यान का नियमित अभ्यास करने से आत्मिक शक्ति बढ़ती है और आत्मिक शक्ति बढ़ने से मानसिक शांति का अनुभव होता है और मानसिक शांति से शरीर स्वस्थ रहता है  । ध्यान करने से शरीर के सभी तरह के रोग खत्म हो जाते हैं  । ध्यान से हमारा तन मन और मस्तिक पूर्ण तरह से शांत और स्वस्थ अनुभव करता है  ।

ध्यान करने से क्या होगा

हम लोगों के अंदर यह प्रश्न भी उठता रहता है के ध्यान करने से क्या होगा ? ध्यान करने से  सभी तरह का भय और डर हमारे अंदर से खत्म हो जाएगा, चिंता और चिंतन करने से उपजे हुए रोगों का खात्मा हो जाएगा  । शरीर में शांति होगी तो आप स्वस्थ महसूस करोगे, कार्य और व्यवहार में सुधार महसूस होगा  । रिश्तो में तनाव की जगह प्रेम होगा, आपका दृष्टिकोण सकारात्मक हो जाएगा, सफलता के बारे में सोचने मात्र से ही सफलता आपके नजदीक नजर आएगी  ।

ध्यान का महत्व

ध्यान हमें वर्तमान को देखने और समझने में मदद करता है । शुद्ध रूप से देखने और समझने से विवेक जागरूक होता है और विवेक जागृत होने से होश बढ़ता है और होश के बढ़ने से मृत्यु काल में शरीर छूटने का बोध रहेगा । इस देह को त्यागने के बाद जन्म आपके हाथ में होगा । यही ध्यान का महत्व है । सिर्फ अपने आप तक पहुंचने का एक मात्र मार्ग ध्यान है । ध्यान के अलावा और कोई भी उपाय नहीं है । यदि हम ध्यान नहीं कर रहे हैं तो अपने आप तक कभी नहीं पहुंच सकते । अपने आप तक पहुंचने का मतलब है कि हमारे ऊपर जो भावना और विचारों के बादल हैं उनको पूरी तरह से हटा देना और अपने विवेक को जागृत कर लेना ।

दुनिया में जितने भी साधु महात्मा आए हैं सबने ध्यान के महत्त्व के बारे में बताया है । सभी साधु महात्मा की एकमात्र राय है कि ध्यान के बिना आप अपने आप को कभी भी नहीं पा सकते इसलिए हमारे जीवन में ध्यान बहुत ज्यादा जरूरी है ।

ध्यान करने से हमारे अंदर तनाव में भी कमी आती है और मस्तिक में भी नई ऊर्जा अनुभव होती है । गहरी से गहरी नींद से भी अधिक लाभदायक होता है ध्यान। ध्यान करने से आप चिंता मुक्त हो जाते हो । आपको आपकी परेशानियां छोटी नजर आने लगती है । आपकी चेतना को लाभ मिलता है । जो लोग ध्यान करना शुरू करते हैं वह शांत होने लगते हैं और यही शांति हमारे मन और शरीर को मजबूत बनाती है । ध्यान से पूरा लाभ उठाने के लिए नियमित रूप से ध्यान का अभ्यास करना चाहिए । ध्यान करने के लिए आपको कोई ज्यादा वक्त नहीं चाहिए, अगर आपके पास वक्त कम है तो शुरू में आप इसको थोड़ी देर के लिए कर सकते हो उसके पश्चात आप धीरे-धीरे अपने समय को बढ़ाते जाओ लेकिन एक बात याद रखना ध्यान को नियमित रूप से करना चाहिए अगर ध्यान आपका रोजमर्रा का हिस्सा बन गया तो यह आपके दिन का सबसे अच्छा हिस्सा बन जाता है । आपको ध्यान करने से आनंद की प्राप्ति होती है और ध्यान नियमित करने से आपको कुछ माह बाद ही अपने अंदर गहरी शांति अनुभव होगी ।

दोस्तों अगर आपको मेरा यह ब्लॉग अच्छा लगा हो तो कृपया व्हाट्सएप और फेसबुक पर जरूर शेयर कीजिए, आप अपनी प्रतिक्रिया मुझे कमेंट करके भी बता सकते हैं ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ